धुन्नी चढिगा .........


धुन्नी चढिगा फुन्नी मा !
मटा चाबिगा छुन्नी मा  !!

अर्थ :- कोई भी इंसान जब सोच समझ कर काम नहीं करता, अथवा बहुत जल्दी  गलत तरह से तरक्की पाना चाहता है, तो उसका परिणाम बुरा ही होता है i
               आज के सन्दर्भ मैं नए नेताओं  पर ये कहावत एक दम सटीक बैठती है !

3 comments: